Home Religion Hanuman Ji Aarti हनुमानजी की आरती: आरती कीजै हनुमान लला की

Hanuman Ji Aarti हनुमानजी की आरती: आरती कीजै हनुमान लला की

0

Hariharan Shree Hanuman Ji Ki Aarti: रामायण में भगवान Hanuman Ji की अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका से हम सभी परिचित हैं। लेकिन हम में से कुछ ही लोग जानते हैं कि भगवान Hanuman Ji महाकाव्य महाभारत में भी दिखाई देते हैं, वह भी दो बार।

यह एक सर्वविदित तथ्य है कि Hanuman Ji हनुमान ”Chiranjeevi’s’ में से एक हैं। ‘Chiranjeevi’s वे लोग हैं जो अमर होने वाले हैं। हनुमान, Chiranjeevi में से एक होने के नाते हमेशा के लिए जीने के वरदान के साथ दी गई है।

तो, हम पाते हैं कि भगवान हनुमान का उल्लेख महाभारत में है। भगवान हनुमान को भीम का भाई भी माना जाता है क्योंकि उनके समान पिता वायु हैं। Jai Ganesh Ji Ki Aarti Hindi Mein

इसलिए महाभारत में भगवान हनुमान का पहला उल्लेख तब मिलता है जब वह पांडवों के वनवास के दौरान भीम से मिलते हैं। और दूसरी बार जब भगवान Hanuman Ji ने अर्जुन के ध्वज में निवास करके कुरुक्षेत्र के युद्ध में अर्जुन के रथ की रक्षा की।

Hanuman Ji Ki Aarti Hindi Mein, Lyrics 

आरती कीजै हनुमान लला की। दुष्ट दलन रघुनाथ कला की॥
जाके बल से गिरिवर कांपे। रोग दोष जाके निकट न झांके॥
अंजनि पुत्र महा बलदाई। सन्तन के प्रभु सदा सहाई॥
आरती कीजै हनुमान लला की।

दे बीरा रघुनाथ पठाए। लंका जारि सिया सुधि लाए॥
लंका सो कोट समुद्र-सी खाई। जात पवनसुत बार न लाई॥
आरती कीजै हनुमान लला की।

लंका जारि असुर संहारे। सियारामजी के काज सवारे॥
लक्ष्मण मूर्छित पड़े सकारे। आनि संजीवन प्राण उबारे॥
आरती कीजै हनुमान लला की।

पैठि पाताल तोरि जम-कारे। अहिरावण की भुजा उखारे॥
बाएं भुजा असुरदल मारे। दाहिने भुजा संतजन तारे॥
आरती कीजै हनुमान लला की।

सुर नर मुनि आरती उतारें। जय जय जय हनुमान उचारें॥
कंचन थार कपूर लौ छाई। आरती करत अंजना माई॥
आरती कीजै हनुमान लला की।

जो हनुमानजी की आरती गावे। बसि बैकुण्ठ परम पद पावे॥
आरती कीजै हनुमान लला की। दुष्ट दलन रघुनाथ कला की॥

Hanuman Ji Ki Aarti English Mein

Doha

Laal Deh Laali lase, Aru Dhari Laal Langoor.
Vajr Deh Danav Dalan, Jai Jai Jai kapi Sur..
Pavan suth Hanuman Ki Jai..

Choupai

Aarti Ke Jai Hanuman Lalaki.
Dusht dalan Raghunath kalaki. Aarti Ke Jai…

Jaakay bal say giriwar kaapay,
Roog doosh jakay nikat na jhankay.

Anjani putra maha balli daayee,
Santan kay prabhu sada sahaye. Aarti Ke Jai…

Day beeraa Raghunath pataway,
Lanka jaaree seeya soodi laayee

Lanka so koti Samundra Seekhaayee,
Jaat pawansut baran layee

Lanka Jaari Asur Sanghaaray,
Seeya Ramjee kay kaaj sawaray. Aarti Ke Jai…

Lakshman moor chet paray Sakaaray,
Aani Sajeewan praan ubaaray

Paitee pataal toori jam kaaray,
Ahi Ravana kee bujaa ukhaaray

Baayay bujaa asur dhal maaray,
Dahinay bujaa sant jan taray. Aarti Ke Jai…

Sur nar Muni arati utaray,
Jai jai jai Hanuman ucharaay

Kanchan thaar Kapoor loo chaayee,
Aaaarati karat Anjani maayee

Jo Hanuman kee Aaarati gaaway,
Basee Baikoontha param pad paaway. Aarti Ke Jai 

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments