HomeFull FormAPI क्या है और यह कैसे काम करता है?

API क्या है और यह कैसे काम करता है?

- Advertisement -

API ka full form Application Programming Interface होता है। और API का फुलफॉर्म हिंदी में ऐप्लिकेशन प्रोग्राम इंटरफ़ेस होता है। जो बीच-बीच में दो अनुप्रयोगों को एक दूसरे के साथ ज़ोडने की अनुमति देता है। आज की तेजी से बदलती दुनिया में, कंप्यूटर बहुत योग्य हैं, आज हर काम लगभग कंप्यूटर आधारित हो रहा है। वह दिन दूर नहीं जब हमारा सारा काम कंप्यूटर के माध्यम से होगा। आज, दुनिया में व्यापार का क्षेत्र इतना बड़ा हो गया है कि सभी काम ऑनलाइन होने लगे हैं।

ऐसी स्थिति में, हम सभी को यह जानने की जरूरत है कि API क्या है और यह कैसे काम करता है? इसका क्या मतलब है और इसका क्या उपयोग किया जाता है। तो चलिए डिटेल्स में api ka full form शुरू करते हैं। 

Api Ka Full Form Hindi
API क्या है और यह कैसे काम करता है?

API Ka Full Form क्या है और यह कैसे काम करता है?

आज हम बात करने वाले हैं (API) एपीआइ की। एपीआई का मतलब ऐप्लिकेशन प्रोग्राम इंटरफ़ेस होता है। आये समझते API क्या है और यह कैसे काम करता है? अब हम Zomato, Uber, Ola जैसी apps यूज़ करते हैं और इन सारी apps के अंदर हमें एक मैप दिखाई देता है।

उस apps के अंदर अगर जोमैटो से ऑर्डर प्लेस करते हैं तो हमें पता चल जाता है कि हमारे डेलिवरी वाले भैया कहाँ पहुंचे है। तो यार देखो जोमैटो ने ऊपर एक सैटेलाइट तो लगा नहीं रखा जिसकी वजह से वो सारी की लोकेशन को ट्रैक कर पाता है। तो सवाल ये है की जोमैटो ये कैसे कर लेता हैं।

जोमैटो मैप लाता है गूगल मैप्स नाम के एक सिस्टम से अब ये सिस्टम हमने एपीआई के फॉर्म में यूज़ कर रखा है लेकिन जोमैटो सीधे गूगल मैप्स के डेटा को ऐक्सेस नहीं कर सकता इसीलिए बीच में एक सेक्युरिटी की परत गूगल मैप्स में लगा रखी है और इसी लेयर को वो API कहता है।

गूगल मैप के एपीआई को, जोमैटो को अगर डेटा ऐक्सेस करना है तो वो एपीआई से पूछेगा, ना की गूगल मैप्स से सीधे पूछेगा। तो एपीआई को हम एक मैसेंजर की तरह समझ सकते हैं।

वो मैसेंजर जो डेटा को एक जगह से दूसरी जगह लेकर जाता हैं तो जोमैटो को अगर डेटा चाहिए तो एपीआई को रिक्वेस्ट करेगा कि क्या हमें वो डेटा दे सकते हैं या नहीं दे सकता है।

- Advertisement -

एपीआई (API) फिर जाकर अपने सिस्टम यानी गूगल मैप्स के पास जाकर पूछता है उनसे की क्या मैं डेटा वापस जोमैटो को दे दू अगर सिस्टम कहता है हाँ तो जो डेटा सिस्टम एपीआई को देता है वहीं एपीआई जाकर जोमैटो को देते हैं। अगर सिस्टम कहते हैं नहीं तो एपीआई क्या करता है एक ऑर्डर रिटर्न कर देता है।

जोमैटो जैसे apps को इसीलिए कभी कभी नेटवर्क खराब होता है तो हमें apps पूरा डिस्प्ले नहीं हो पाता ना ही हम अपने डिलीवरी वाले भैया को ट्रैक कर पाते है।

अब एपीआई जो है एक तरीके से किसी भी सिस्टम का कैसे करे नहीं बताता बल्कि वह क्या करे बताता है। मतलब सिस्टम के पास अगर बर्गर बनाने की रेसिपी है तो एपीआई वो रेसिपी नहीं बताएगा किसी भी ऐप या वेबसाइट को वो फाइनल तैयार बर्गर लेकर ऐप या वेबसाइट को दे देगा।

ऐप या वेबसाइट इसी फाइनल प्रॉडक्ट के साथ बाद में काम कर रहे होते है। उसी तरीके से अगर हम कोई नई ऐप्लिकेशन डाउनलोड करते हैं तो उसके अंदर हमारे पास साइन अप ऑप्शन आते है जो हम गूगल साइन अप या फेसबुक जैसे फ़ीचर्स यूज़ करते है।

किसी ने भी अगर नहीं आप बनाई है तो उसको जाकर एक यूजर को वेरिफाइ ना करना पड़े कि इसके जानकारी सही है या नहीं क्योंकि वो काम ऑलरेडी गूगल और फेसबुक के बड़े बड़े डेटाबेस नहीं किया हुआ होता है

तो ऐप्स क्या करती है वो डाइरेक्टली गूगल से पूछ लेती है गूगल एपीआई के थ्रू या फेसबुक एपीआई के थ्रू कि क्या आपके डेटाबेस में एक वैलिड यूजर जो है वो एग्जिस्ट करता है या नहीं।

इसमें सवाल भी उठता है कि फिर तो कोई भी apps हमारे डेटा का मिसयूज कर सकती है तो इसमें एपीआई एक अलग तरह की प्रोटेक्शन लेयर लेकर आते हैं किसके थ्रू एपीआई की एक सेक्युरिटी कोड होता है जो कोई भी सिस्टम अपने डेवलपर को देता है। जो भी डेवलपर उसके एपीआई लेने कोशीश कर रहा है।

- Advertisement -

अब कुछ एपीआई जो होती है वो फ्री टू यूज़ होती है लेकिन मोस्टली एपीआइ के अंदर एपीआई की होता है कुछ कुछ में एपीआई की फ्री होता है बट कुछ कुछ एपीआई जो इन वैल्यूएबल डेटा को ऐक्सेस प्रोवाइड कर रही है उनके लिए पैसे देने होते है।

API के कुछ अन्य full form

  • Assistant Police Inspector
  • Air Pollution Index
  • Academic Performance Index
  • American Petroleum Institute
  • Active Pharmaceutical Ingredient
  • Atmospheric Pressure Ionization
  • Administración Portuaria Integral
  • Animal Protection Institute
  • Advanced Photonix, Inc.
  • Adobe Acrobat Plug-In
  • Armor Piercing Incendiary
  • Alternative Press Index
  • American Pirate Industries
  • Automotive Professionals, Inc.
  • American Paper Institute
  • Accountants for the Public Interest
  • Acquisition Program Integration
  • After Project Initiation
  • Accountable Property Inventory

API का उपयोग क्या है?

एक application program interface (API) प्रोग्रामिंग अनुप्रयोगों के निर्माण के लिए बहुत सारे chedules, conventions और  apparatuses हैं।अनिवार्य रूप से, एक एपीआई indicates करता है कि प्रोग्रामिंग खंडों को कैसे कनेक्ट करना चाहिए। इसके अलावा, Graphical User Interface (GUI) भागों की प्रोग्रामिंग करते समय एपीआई का उपयोग किया जाता है।

बैंकिंग में API क्या है?

एक एपीआई (एप्लीकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफेस) एक ऐसा इंटरफ़ेस है जो किसी भी एप्लिकेशन के साथ प्रशासन के डेटाबेस को सिंक्रनाइज़, इंटरफ़ेस और संबद्ध करने की अनुमति देता है।

दूसरे शब्दों में, वे एक प्रकार के मचान के रूप में भरते हैं जो एक आश्रय में और बिना बाहरी लोगों को शामिल किए बिना सूचना के आवागमन को सुनिश्चित करता है।

एपीआई के प्रकार क्या हैं?

SOAP – Simple Object Access Protocol (SOAP) पीसी सिस्टम में वेब लाभों के उपयोग में संगठित डेटा के व्यापार के लिए एक सूचित सम्मेलन का निर्धारण है। इसकी प्रेरणा विलुप्ति, पूर्वाग्रह की कमी, क्रियाशीलता और स्वतंत्रता देना है।

XML-RPC – XML (Extensible Markup Language) – RPC (Remote Procedure Call) एक दूरस्थ तकनीक कॉल कन्वेंशन है जो XML को अपने कॉल और HTTP को एक वाहन प्रणाली के रूप में एन्कोड करने के लिए उपयोग करता है।

JSON-RPC – JSON (JavaScript Object Notation)-RPC में एन्कोडेड एक रिमोट सिस्टम कॉल कन्वेंशन है। यह एक असाधारण रूप से सीधा सम्मेलन है। जिसमें केवल कुछ प्रकार की सूचनाओं और आदेशों की विशेषता है।

- Advertisement -

JSON-RPC को नोटिस में लिया जाता है और विभिन्न कॉल के लिए सर्वर को भेजा जाता है जिसे अनुरोध से बाहर रखा जा सकता है।

REST- Representational state transfer (REST) एक उत्पाद संरचना शैली है जो वेब व्यवस्थापन बनाने के लिए उपयोग की जाने वाली बहुत सी सीमाओं की विशेषता है।

वेब लाभ जो RESTful Web administrations REST संरचनात्मक शैली में समायोजित होते हैं। इंटरनेट पर पीसी चौखटों के बीच अंतर-क्षमता प्रदान करते हैं।

https://www.youtube.com/watch?v=E0Qqpn8ymko&t=15s

ये भी पढ़े –

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × 2 =

Latest Post

- Advertisement -

You might also likeRELATED
Recommended to you