HomeEntertainmentतारक मेहता की बबीता जी के बरसों पुराना छलकता दर्द, कहा- मेरे...

तारक मेहता की बबीता जी के बरसों पुराना छलकता दर्द, कहा- मेरे अंडर पेंट में हाथ डाला…

- Advertisement -

तारक मेहता का उल्टा चश्मा शो भारत में सबसे अच्छे शो में से एक है, जिसके कारण इसे भारत में बहुत पसंद किया जाता है। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि शो तारक मेहता का उल्टा चश्मा में दया सिस्टर का किरदार निभाने वाली दिशा वक्नी, नट्टू काका का किरदार निभाने वाले घनश्याम नायक और बबीता जी का किरदार निभाने वाली मुनमुन दत्ता ने इसमें बबीता जी का रोल प्ले किया था. प्रदर्शन। को अलविदा कह दिया। हाल ही में यह भी खबर आई है कि शो में टप्पू का किरदार निभाने वाले राज उनादकट भी कुछ दिनों में शो को अलविदा कहने वाले हैं.

Munmun 1587881715

यही वजह है कि शो की टीआरपी दिनों दिन कम होती जा रही है. यह शो के मेकर्स के लिए बड़ी चिंता का विषय बन गया है। इसी के चलते हाल ही में शो के मेकर्स ने शो के हित में एक फैसला लिया है, जिसके चलते उन्होंने शो में एक नए कलाकार को लॉन्च किया है. जो दिखने में बबीता जी से भी ज्यादा खूबसूरत है और इसके साथ ही शो के पहले एपिसोड में हर कोई इस नए कलाकार के अंदाज का दीवाना हो गया है. आइए आगे आपको लेख में इस नए और खूबसूरत कलाकार के बारे में बताते हैं और साथ ही बताते हैं कि शो में इसे किसका किरदार दिया गया है।

Babita 1

2017 में सोशल मीडिया पर एक कैंपेन चलाया गया जिसमें दुनियाभर की महिलाओं ने अपने बुरे अनुभव साझा किए. इन अनुभवों में अतीत की सिसकियां थीं जो सदियों से अंदर ही अंदर घूम रही थीं, लेकिन बाहर आने से डरती थीं। इस लिस्ट में मुनमुन दत्त का भी नाम था, जिन्होंने अपने साथ हुई घटनाओं को आवाज दी।

R4Nul6O15Ep61.Webp

अपने बुरे अनुभवों को याद करते हुए उन्होंने लिखा- ”मैं उन पड़ोसी चाचाओं की गंदी नजरों से अक्सर बच जाती हूं. जो मुझे बहुत घूरता था। साथ ही मुझे इस बारे में किसी को न बताने की धमकी भी दी गई। वो दूर के चचेरे भाई जो मुझे अपनी बेटियों से अलग देखते थे। या वह बड़ा भाई जिसने मुझे पैदा होते देखा और 13 साल बाद मेरे शरीर को गंदे इरादों से छू रहा था। सिर्फ इसलिए कि मैं एक किशोर था, मेरा शरीर बदल रहा था।

- Advertisement -

1 3 1

वह शिक्षक जिसने मुझे कोचिंग में पढ़ाया, जिसका हाथ हमेशा मेरे अंडर-पेंट में था। या कोई और शिक्षिका, जिसे मैंने राखी बांधी थी, कक्षा में छात्राओं को उनके ब*रा के कदमों से खींचकर उनके स्तनों पर थप्पड़ मारती थी। बबीता जी आगे लिखती हैं कि आप अपने माता-पिता के सामने यह कैसे कह सकते हैं, यह बात अंदर से दुखती है। और इसलिए ऐसे अपराध होते रहते हैं।

- Advertisement -
Newsnity Team
Newsnity Teamhttps://newsnity.com
All this content is written by our team, guest author, some of them are sponsor posts too. We write articles on such as top 10 lists, entertainment, movies, education more in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one + 3 =

नवीनतम लेख

- Advertisement -
- Advertisement -

You might also likeRELATED
Recommended to you